Home DiwaliDeepavali भारत में दिवाली उत्सव का महत्व और मान्यताएं।  

दीपावली 2023

भारत में दिवाली उत्सव का महत्व और मान्यताएं।

 
दीपस्य प्रकाशः न केवलं भवतः ।
गृहम् उज्ज्वालयतु जीवनम् अपि ।।

दिवाली, जिसे दीपावली भी कहा जाता है, भारत में एक प्रमुख और प्रतिष्ठित त्योहार है, और इसका महत्व कई पहलुओं से जुड़ा हुआ है।

धार्मिक महत्व: दिवाली हिन्दू धर्म का महत्वपूर्ण त्योहार है, जो विभिन्न देवताओं की पूजा के साथ मनाया जाता है। यह धार्मिक मान्यताओं का अध्ययन करने, पूजन, और आध्यात्मिकता की वृद्धि का एक अवसर है।

व्यापारिक महत्व: दिवाली व्यापारिक दृष्टि से भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह व्यवसायी गत गतिविधियों की वृद्धि को प्रोत्साहित करता है। लोग इस अवसर पर उपहार खरीदते हैं और विभिन्न सामग्री की खरीदारी करते हैं।

श्रेष्ठता का प्रतीक: दिवाली लक्ष्मी, धन, और समृद्धि की प्रतीक मानी जाती है, और लोग इस अवसर पर अपने घरों को सजाते हैं और उन्हें पूजा करते हैं, जिससे वे शुभारंभ की आशीर्वाद प्राप्त करते हैं।

दिवाली भारत में एक महत्वपूर्ण त्योहार है और यह लोगों के लिए धार्मिक, सामाजिक, और आर्थिक मान्यताओं का महत्वपूर्ण हिस्सा है।

भारत के विभिन्न हिस्सों में दिवाली कैसे मनाई जाती है?

भारत के विभिन्न हिस्सों में दिवाली को विभिन्न तरीकों से मनाया जाता है, और हर क्षेत्र में इसके लिए अपने विशेष रूप होते हैं. यहां कुछ प्रमुख रूप बताए गए हैं

उत्तर भारत :

उत्तर भारत के लोग दिवाली के पहले दिन धनतेरस मनाते हैं, जिसमें विशेष रूप से धन और संपत्ति की पूजा की जाती है. दिवाली के दिन घरों को दीपों और दिए से सजाया जाता है, और लक्ष्मी माता की पूजा की जाती है. इसके बाद, फटाकों की धमाल, मिठाई, और उपहारों का आदान-प्रदान किया जाता है।

पश्चिम भारत:

पश्चिम भारत में, दिवाली को देवी धूमावती की पूजा के साथ मनाते हैं, जिसे दिवाली पावन के नाम से भी जाना जाता है. यहां बड़े मस्ती के साथ उपहार दिए जाते हैं और उसके बाद पटाखों की धमाल होती है।

पूर्व भारत:

पूर्व भारत में, काली पूजा दिवाली के पहले दिन मनाई जाती है. इस दिन काली माता की पूजा होती है और बड़े धूमधाम से उपहार दिए जाते हैं।

दक्षिण भारत:

दक्षिण भारत में, दिवाली को नरक चतुर्दशी के रूप में मनाया जाता है. इस दिन घरों को दीपों और फूलों से सजाया जाता है, और विशेष रूप से काली माता की पूजा की जाती है।

उत्तर-पश्चिम भारत:

यहां बरसात के दिन दिवाली के रूप में मनाई जाती है, जिसमें भगवान श्रीकृष्ण की पूजा होती है। ये विभिन्न प्रांतों में दिवाली के मनाने के तरीके हैं, लेकिन इसका एकमूल्य मकसद सबको एक साथ आनंद और खुशी मनाना है, और अच्छाई, सदगुण, और संपत्ति की बढ़ती कामना करना है।

दुनिया भर में दिवाली का जश्न:

दिवाली एक भारतीय त्योहार होता है, लेकिन यह विश्व भर में विभिन्न समुदायों और भाषाओं में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है, और यहां दुनिया भर के कुछ स्थानों में कैसे मनाया जाता है: भारत: दिवाली भारत में एक लाखों लोगों द्वारा मनाया जाने वाला सबसे महत्वपूर्ण हिन्दू त्योहार है. यहां पर लोग अपने घरों को दीपों और दिए से सजाते हैं, विभिन्न देवताओं की पूजा करते हैं, और अपने परिवार और दोस्तों के साथ उपहार बाँटते हैं. यहां पर रात को फटाकों और पटाखों की धमाल होती है। नेपाल: दिवाली या “तिहार” नेपाल में भी एक महत्वपूर्ण त्योहार है. यहां पर भगवान लक्ष्मी की पूजा की जाती है, और लोग अपने घरों को दीपों और दिए से सजाते हैं। सिंगापुर: सिंगापुर में दिवाली को “दीपावली” के नाम से मनाते हैं. यहां पर दिवाली का महत्व उसके भारतीय और तामिल समुदायों के लिए है, और इस अवसर पर बड़ा पर्व किया जाता है। श्रीलंका: श्रीलंका में दिवाली को “दीपावली” कहा जाता है और यह कई दिन तक चलता है. लोग अपने घरों को दीपों से सजाते हैं और विश्वकर्मा पूजा भी करते हैं । मलेशिया: मलेशिया में दिवाली को “दीपावली” कहा जाता है और यहां लोग अपने घरों को रंगीन दीपों से सजाते हैं. यह एक मलेशियन हिन्दू समुदाय का महत्वपूर्ण त्योहार है। फिजी: फिजी में दिवाली को आपने तय की पूजा के साथ मनाया जाता है. यह त्योहार भारतीय मूल के फिजि लोगों के लिए महत्वपूर्ण है। केन्या: केन्या में भी भारतीय समुदाय द्वारा दिवाली मनाई जाती है, जिसमें दीपों की पूजा और खास खाना-पीना शामिल होता है. ये हैं कुछ देश जहां दिवाली का मनाने के अपने विशेष परंपराए हैं, लेकिन इसका मुख्य संदेश सब जगह एक ही होता है – खुशियों, समृद्धि की कामना।

संपूर्ण भारत में दिवाली के खाद्य व्यंजन:

दिवाली के अवसर पर भारत के विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न प्रकार के खाद्य व्यंजन बनाए जाते हैं। यहां कुछ प्रमुख दिवाली खाने के विकल्प हैं: मिठाई: दिवाली के मौके पर भारतीय मिठाइयों का अधिक से अधिक आनंद लेते हैं, जैसे कि बरफी, सोन पापड़, रसगुल्ला, आदि। समोसे: समोसे एक पॉपुलर नमकीन हैं और इन्हें दिवाली के दिनों में बनाया जाता है। पाक: दिवाली के दिन पाक, जैसे कि पूरी, कचौड़ी, चोले आदि, बनाए जाते हैं। खीर: दिवाली पर खीर भी बनाई जाती है और इसे मिठाइयों के साथ ब्राह्मण पूजा के दौरान भी प्रसाद के रूप में प्रस्तुत किया जाता है।

सुरक्षित रूप से दिवाली मनाने के टिप्स:

पटाखों के साथ सावधानी: पटाखों का सावधानीपूर्ण रूप से इस्तेमाल करें। अपने बच्चों को पटाखों के प्रति जागरूक बनाएं और हमेशा उनकी निगरानी में रहें। सिंथेटिक कपड़ों से दूर रहें, सूती कपड़े ही पहनें। अपने घर में अग्निशामक यंत्र रखें और प्राथमिक चिकित्सा किट तैयार रखें। बंद जगहों पर पटाखे न जलाएं। बच्चों को अकेले रॉकेट जैसी हवाई आतिशबाजी न जलाने दें। कभी भी पटाखा हाथ में पकड़कर न जलाएं। दिवाली के दिन घर को साफ-सुथरा रखें: घर की सफाई करके स्वच्छता बनाए रखने में मदद मिलेगी। प्रदूषण को कम करने के उपाय अपनाएं: पटाखों के प्रदूषण को कम करने के लिए ध्वंसक और आधुनिक पटाखें जलाएं। आवश्यकता से ज्यादा ना जलाएं: दीपावली पर दियों का अधिक उपयोग न करें और उन्हें जागरूकी से रखें। घर के अंदर दीप जलाएं: पटाखों के बजाय घर के अंदर दीप जलाने का परंपरागत तरीका है और सुरक्षित होता है।

दिवाली उत्सव की पौराणिक मान्यताएं:

दिवाली, रावण को मारने के बाद भगवान राम की अयोध्या वापसी के रूप में मनाई जाती है। दिवाली मनाने के पीछे अन्य कारण यह है कि इस दिन श्री कृष्ण ने नरकासुर का वध किया था और तीनों लोकों की नरकासुर से रक्षा की थी इसी लिए दिवाली के अगले दिन को नरक चतुर्दशी के रूप में मनाया जाता है। वहीं सबसे प्रसिद्ध और महत्त्वपूर्ण मान्यता यह है कि इस दिन देवी लक्ष्मी का जन्म हुआ था। देवी लक्ष्मी हिंदू धर्म की सबसे प्रमुख देवियों में से एक हैं और ‘धन की देवी’ भी हैं। इस दिन धन और समृद्धि के लिए देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती है। एक और मान्यता के अनुसार इस दिन पांडवों की घर वापसी हुई थी। महाभारत के अनुसार इसी दिन पांडवों ने कौरवों को हराया और कार्तिक अमावस्या यानी दिवाली के दिन 12 साल के निर्वासन से वापस लौटे।

दिवाली के महत्त्वपूर्ण 5 दिन:

1. पहला दिन धनतेरस (सौभाग्य का दिन) 2. दूसरा दिन नरक चतुर्दशी (ज्ञान का दिन) 3. तीसरा दिन दिवाली (रोशनी का दिन) 4. चौथा दिन अन्नकूट (नया साल) 5. पांचवां दिन भाई दूज (भाई-बहन के बीच प्यार का दिन) Diwali Wishes Template

Brands.live के साथ दिवाली कैसे मनाएं ?

भारत में दिवाली का उत्सव पूरे देश को एकजुट करते हुए बड़े उत्साह और भव्यता के साथ मनाया जाता है। लोग आमतौर पर दिवाली की रात नए कपड़े पहनते हैं, उपहार बांटते हैं और चांदी या सोने के आभूषण भी खरीदते हैं। दिवाली अंधकार पर प्रकाश की, बुराई पर अच्छाई की और अज्ञान पर ज्ञान की आध्यात्मिक विजय का प्रतीक है।
    • इस खास दिन को और खास बनाने के लिए Brands.live आपके लिए लेकर आया है Diwali Posters की भरमार जिसके जरिए आप देश ही नहीं विदेश में भी अपने बिजनेस का प्रचार आसानी से कर सकेंगे।
    • Brands.live द्वारा तैयार किए गए Diwali Poster, Diwali Image और Diwali Template आपको आपके बिजनेस को लोगों तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
    • Diwali Videos के साथ आप अपने बिजनेस को बहुत ही आसानी से ग्राहकों तक पहुंचा सकते हैं।
    • हमारे Diwali की Instagram reels और शानदार स्टेटस से आप अधिक प्रॉफिट और कम खर्च में बिजनेस का प्रमोशन कर सकते हैं।
    • हमारे Diwali Creative Post के साथ स्मार्ट तरीके से अपने बिजनेस का प्रमोशन करें।
    • अपने ग्राहकों को आकर्षित WhatsApp स्टिकर भेजें। दिवाली शुभकामनाओं के पोस्टर के साथ अपने बिजनेस को भी शुभ बनाएं।
तो इस दिवाली अपने बिजनेस का प्रचार प्रसार हमारे साथ करें। अपनी बिजनेस को समृद्ध बनाएं, और अधिक से अधिक ग्राहकों से जुड़े। Because Brands.live है तो सब आसान है! (Aasan Hai)

आप सभी को हैप्पी दीपावली….Diwali post

Download FREE Diwali Posters

Let's Enjoy the FAQ Session!

Brands.live is a Festival Poster maker that offers customizable Diwali post, Diwali posters, Dhanteras post, Dhanteras posters, New Year post, New Year posters, Diwali videos, Diwali Insta story, special Diwali offers, and unique Diwali-themed alphabets. These assets are designed to enhance your brand’s visibility and engagement during the Diwali festival.

Diwali falls on November 12, 2023. This vibrant Hindu festival of lights is celebrated by adorning surroundings with lamps, diyas, and lanterns. You can use the Brands.live Poster Maker app to create personalized greetings. offers all your marketing needs for this festive season.

The Festival Poster Maker Provide following categories:

– Diwali Image
– Diwali Post
– New Year Image
– New Year Post
– Dhanteras Image
– Dhanteras Post
– Festival Post
– Flyer Image
– Flyer Video
– Brand Post
– Social Media Post
– Marketing Post
– Free App
– Free Post
– Free Business Post
– Free Social Media Post
– Free Facebook Post
– Free Branding App
– Free Festival Post
– Free Daily Post
– Business Poster

You may also like

Leave a Comment

Follow Us

Download Now

appstore playstore
@2023 – All Right Reserved by Brands.live